गोपेश्वर: शिक्षिका के तबादले पर रो पडे ग्रामीण और स्कूल के छात्र छात्राएं।

शिक्षिका के तबादले पर रो पडे ग्रामीण और स्कूल के छात्र छात्राएं।

गोपेश्वर।
ये दृश्य न तो किसी बेटी का मायके से ससुराल जाने का था, न 12 बरस में आयोजित नंदा देवी राजजात यात्रा में नंदा की डोली का कैलाश विदा होने का, बल्कि ये दृश्य सीमांत जनपद चमोली के दशोली विकास खण्ड के राजकीय प्राथमिक विद्यालय गाड़ी में कार्यरत शिक्षिका श्रीमती सीमा नोटियाल की विदाई समारोह का था। शिक्षिका सीमा नोटियाल ने उक्त विद्यालय 6 साल की राजकीय सेवा के बाद आदर्श विद्यालय नेलकुड़ाऊ में स्थानांतरण होने के अवसर पर आयोजित विदाई समारोह में क्या बच्चे क्या बुजुर्ग, सबकी आंखों में आंसुओं की अविरल धारा बह रही थी। सबके चेहरे उदास नजर आ रहे थे, शिक्षिका के तबादला होंने पर यहाँ से चले जाने का दुख साफ पढा जा सकता था। ग्रामीणों और स्कूल के छात्र छात्राओ ने शिक्षिका सीमा नोटियाल का फूल मालाओं और बैंड के संग कभी न भूलने वाली विदाई दी।

वास्तव में देखा जाय तो आज के दौर में किसी शिक्षक-शिक्षिका के प्रति छात्र छात्राओ और ग्रामीणों का ऐसा प्यार, स्नेह और आत्मीय लगाव दुर्लभ और यदा कदा ही नजर आता है। विदाई समारोह में ग्रामीणों और स्कूल के छात्र छात्राओ से मिले असीम प्यार और स्नेह से सीमा नोटियाल बेहद भावुक नजर आई, उन्होने कहा की ये उनके जीवन की अमूल्य निधि और असली जमा पूंजी व कमाई है जिसका कोई मोल नहीं है। छात्र छात्राओ और ग्रामीणों ने जो सम्मान दिया है उसका जीवनपर्यंत ऋणी रहूंगा। ये सम्मान मुझे नये कार्यस्थल पर नयीं ऊर्जा प्रदान करेगा।


इस अवसर पर विद्यालय की प्रधानाध्यापिका सरोजनी भंडारी, पी0टी0ए अध्यक्ष प्रकाश सिंह, सरपंच तारेंद्र सिह, रघुवीर सिंह, सुलप सिह, नरेन्द्र सिह, विजया देवी, महावीर सिह, विपिन सिह आदि मौजूद थे।

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *