गोपेश्वर: वन विभाग ने फायर सीजन को लेकर तैयारियां की शुरु केदारनाथ वन प्रभाग ने बनाए 23 क्रू स्टेशन, 5 अधिकारी और 180 फील्ड कर्मी किए तैनात।

वन विभाग ने फायर सीजन को लेकर तैयारियां की शुरु केदारनाथ वन प्रभाग ने बनाए 23 क्रू स्टेशन, 5 अधिकारी और 180 फील्ड कर्मी किए तैनात।

गोपेश्वर।
वन विभाग ने चमोली में आगामी 15 फरवरी से शुरु होने वाले फायर सीजन को लेकर तैयारियां की शुरु। केदारनाथ वन्य जीव प्रभाग के प्रभागीय वनाधिकारी अभिमन्यु ने बताया कि वनाग्नि की घटनाओं को रोकने के लिए प्रभाग ने 23 क्रू स्टेशन बनाने के साथ ही प्रभाग की चार रेंज में 5 अधिकारियों के साथ ही 180 फील्ड कर्मचारियों की तैनात किए हैं। रेंज कार्यालयों में एक-एक वाहन तैनात करने के साथ ही अन्य व्यवस्थाएं भी पूर्ण कर ली गई हैं।


उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि भारतीय वन अधिनियम 2001 के अनुसार वनों में आग लगाना दंडनीय अपराध है। जिसके लिए दो वर्ष तक के कारवास के साथ ही पांच हजार तक के दंड का प्रावधान है। इसके साथ ही संरक्षित वन क्षेत्र में आग लगाने पर दो वर्ष तक के कारावास के साथ ही 10 हजार के अर्थदंड का प्रावधान किया गया है। उन्होंने कहा कि वनाग्नि की रोकथाम के लिए जन सहयोग आवश्यक है। बताया कि वनाग्नि की घटनाओं में जानकारी देने वाले व्यक्ति का नाम विभाग की ओर से गोपनीय रखा जाता है। ऐसे में वनाग्नि की जानकारी विभाग को देकर जन सामान्य विभागीय सहयोग कर सकते हैं। इसके साथ ही उन्होंने लोगो जलती सिगरेट, बीड़ी या दियासिलाई को वन क्षेत्र में न फेंकने, समारोह आदि में वनों के समीप पटाखों का उपयोग न करने, वन क्षेत्रों में पिकनिक के दौरान खाना बनाने के आग का उपयोग न करने की बात कही है।

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed