अच्छी ख़बर: “अरिहंत अस्पताल चमोली” द्वारा ज़िले का प्रथम दूरबीन विधि द्वारा किया गया सफल ऑपरेशन।

अच्छी ख़बर: “अरिहंत अस्पताल चमोली” द्वारा ज़िले का प्रथम दूरबीन विधि द्वारा किया गया सफल ऑपरेशन।

गोपेश्वर।
अरिहंत अस्पताल चमोली द्वारा ज़िले का प्रथम दूरबीन विधि द्वारा पित्त की थैली (गॉलब्लेडर) की पथरी का सफलतापूर्वक ऑपरेशन किया गया। दूरबीन विधि द्वारा ऑपरेशन की वजह से मरीज़ ने बहुत कम समय में स्वास्थ्य लाभ प्राप्त किया। साथ ही बताया कि ऑपरेशन देहरादून के मुकाबले आधी दरों पर किया गया।

आपको बता दें कि दुर्मी गांव, निजमुला घाटी निवासी मरीज़ जो कि काफी समय से परेशान थी, जिसको अरिहंत अस्पताल चमोली में अल्ट्रासाउंड कराया गया, जिसमे पित्त की थैली में पथरी दिखाई दी। डॉक्टरी सलाह के बाद दिनांक 28 दिसंबर को अरिहंत अस्पताल चमोली के सर्जन द्वारा दूरबीन विधि से पित्त की थैली को बाहर निकाल दिया गया।

यह सुविधा अभी तक चमोली एवं आसपास के ज़िलों में उपलब्ध नहीं थी, इसी क्रम में 29 दिसंबर को एक और महिला मरीज़ (निवासी कनोल,नंदानगर) का भी दूरबीन विधि द्वारा लगातार दूसरा सफल ऑपरेशन किया गया। डॉक्टरों ने बताया कि दूरबीन विधि द्वारा ऑपरेशन होने पर बहुत ही कम टांके आते है,एवं पेट में बड़ा चीरा नहीं देना पड़ता है, साथ ही मरीज़ चीरे वाले ऑपरेशन के मुकाबले मात्र 2 दिनों में ही स्वास्थ्य लाभ प्राप्त कर घर जाने योग्य हो जाता है, दोनों ही मरीज़ स्वस्थ है।

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *